यह क्या…बैतूल की महिला आईटीआई में पुरूष अभ्यर्थियों को प्रवेश…!

उपलब्ध सीटों के लिए छात्राओं के नहीं आए पर्याप्त आवेदन, इसलिए लिया यह निर्णय

  • उत्तम मालवीय (9425003881)
    बैतूल।
    बैतूल स्थित शासकीय एकलव्य महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था (आईटीआई) में इस साल छात्राओं के साथ छात्र भी पढ़ाई करते हुए नजर आएंगे। इस आईटीआई में छात्रों को भी प्रवेश दिया जा रहा है। इसके लिए बाकायद आईटीआई प्राचार्य की ओर से सार्वजनिक सूचना जारी की गई है। यह कदम इसलिए उठाया जा रहा है क्योंकि आईटीआई में जितनी सीटें उपलब्ध हैं, उतनी छात्राओं ने प्रवेश ही नहीं लिया है।
    महिला आईटीआई में कुल 10 ट्रेड संचालित हैं। इनमें सीएलसी राउंड के तहत प्रवेश हेतु ऑनलाइन फॉर्म आमंत्रित किए गए हैं। यह फॉर्म 7 नवंबर तक भरे जा सकेंगे। खास बात यह है कि आईटीआई द्वारा जारी सूचना में खासतौर से यह कहा गया है कि ‘इस प्रवेश प्रक्रिया में पुरूष अभ्यर्थी भी रिक्त सीटों के लिए आवेदन कर सकते हैं।Ó आईटीआई प्रबंधन को यह कदम इसलिए उठाना पड़ा है क्योंकि प्रवेश प्रक्रिया के 6 राउंड पूरे हो चुकने के बावजूद भी आईटीआई की पूरी सीटें नहीं भर पाई हैं। आईटीआई प्रबंधन का यही प्रयास है कि सभी सीटें भर जाएं ताकि संस्था में उपलब्ध संसाधनों का अधिक से अधिक उपयोग हो सके।
    अभी भी आईटीआई में 116 सीटें हैं खाली
    आईटीआई में कुल 324 सीटें हैं। इनमें से इलेक्ट्रीशियन और स्टेनोग्राफर एंड सेके्रटेरियल असिस्टेंट (हिंदी) ट्रेड छोड़कर शेष ट्रेडों में अभी 116 सीटें खाली पड़ी हुई हैं। इनमें कंप्यूटर ऑपरेटर और प्रोग्रामिंग असिस्टेंट में 2, इलेक्ट्रॉनिक्स मैकेनिक में 2, फ्लोरीकल्चर एंड लैंडस्केपिंग में 43, इन्फॉर्मेशन कम्युनिकेशन टेक्रोलॉजी सिस्टम मेंटेनेंस में 14, मैकेनिक कंप्यूटर हार्डवेयर में 12, ऑफिस असिस्टेंट कम कंप्यूटर ऑपरेटर में 7, सुइंग टेक्रोलॉजी (कटिंग एंड टेलरिंग) में 23 और स्टेनोग्राफर एंड सेक्रेटेरियल असिस्टेंट (अंग्रेजी) में 13 सीटें खाली हैं। सबसे बुरी हालत फलोरीकल्चर एंड लैंडस्केपिंग में हैं। इसकी 48 में से 43 सीटें अभी खाली पड़ी हुई हैं।

    महिला आईटीआई में जितनी सीटें हैं, उतने आवेदन छात्राओं के नहीं आ पाए हैं। अभी तक प्रवेश के लिए 6 राउंड हो चुके हैं। इसलिए बालकों को भी प्रवेश देने का निर्णय लिया गया है ताकि संस्था के संसाधनों का बेहतर से बेहतर उपयोग किया जा सके। हमारी उन छात्रों से अपील है कि जिन्हें अभी तक कहीं भी प्रवेश नहीं मिल पाया है, वे आवेदन करें और प्रवेश प्राप्त करें। फिलहाल जो छात्र कॉलेज की पढ़ाई नहीं कर रहे हैं, उन्हें किसी भी ट्रेड में आईटीआई प्रवेश ले ही लेना चाहिए क्योंकि इससे बैंक से ऋण मिलने में आसानी होती है।
    केआर चंदेलकर
    प्राचार्य
    शासकीय एकलव्य महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था, बैतूल

  • Get real time updates directly on you device, subscribe now.

    Leave A Reply

    Your email address will not be published.