आखिर क्या है सेवंती के इस गाने में जो चंद घंटे में मिल गए 10 हजार विवर…?

बैतूल के छोटे से गांव ऐड़ापुर की गायिका ने मचा रखी है यूट्यूब पर धूम


◆ इस लिंक पर क्लिक करके सुनें सेवंती का यह अद्भुत गाना…

  • उत्तम मालवीय (9425003881)
    बैतूल।
    यूट्यूब पर इन दिनों लोकगीत ‘टोंगढ़ो येते सोढिमा’ गाने ने धूम मची है। भैंसदेही विकासखंड के एड़ापुर गांव की आदिवासी कलाकार सेवंती ने इस गाने को अपनी मधुर आवाज से गाया है जो यूट्यूब पर काफी ट्रेंड कर रहा है। यह गाना आजकल लोगों की जुबान पर चढ़ा हुआ है। सेवंती ने इसे नए अंदाज में गाया है। आदिवासी फोक स्टूडियो के प्लेटफार्म पर आदिवासी गानों की प्रस्तुति दी जा रही है। लोक गायक राजेश सरियाम ने बताया कि आदिवासी फोक स्टूडियो आदिवासी गानों को श्रंखलाबद्ध तरीके से दिखा रहा है। आदिवासी फोक स्टूडियो पर पारंपरिक लोक गीतों को लाखों लोगों द्वारा सराहा भी जा रहा है। बैतूल जिले के साथ-साथ छत्तीसगढ़ के कलाकार भी इन लोकगीतों में अपना हुनर दिखा रहे हैं। कलाकार राजेश सरियाम के साथ मशहूर संगीतकार अखिलेश जैन का मधुर संगीत भी जमकर पसंद किया जा रहा है। श्री सरियाम ने बताया कि पारंपरिक गीतों को सहेजने का काम आदिवासी फोक स्टूडियो तो कर ही रहा है साथ ही ऐसे कलाकार जिन्हें कभी मंच नहीं मिला उन्हें निःशुल्क प्रशिक्षण देकर प्रदेश ही नहीं भारत में एक पहचान दिला रहा है। विकासखंड भैंसदेही की सेवंती के भीतर भी एक प्रतिभा थी जिसे निखारने में आदिवासी फोक स्टूडियो का महत्वपूर्ण योगदान रहा। इस मंच के माध्यम से सेवंती ने साबित कर दिया कि प्रतिभा को अवसर मिलने पर वह धूम मचा देती है। सेवंती ने पारंपरिक गीत राजेश सरियाम के साथ गाया, जिसे यूट्यूब पर अपलोड किया गया। अपलोड करने के कुछ ही घंटों में ही 10 हजार से ज्यादा लोगों ने इसे देखा एवं सेवंती के लिए कमेंट बॉक्स में खूब तारीफ की। राजेश ने बताया अभी और नए गायकों की भी रिकॉर्डिंग की गई है जो शीघ्र ही दर्शकों का भरपूर मनोरंजन करेंगे। आदिवासी फोक स्टूडियो की डायरेक्टर स्मिता मनोज लोखंडे ने अपील की है कि जो भी गायक गायिका लोकगीतों में रुचि रखते हैं, वे हमसे संपर्क करें, हम उन्हें निःशुल्क प्रशिक्षण देकर एक मंच प्रदान करेंगे।