अयोध्या के श्रीराम मंदिर में लगेंगी बैतूल की भी 51 ईंटें

रविवार को किया जाएगा ईंटों का पूजन, मंदिर समितियां करेंगी सजावट

  • उत्तम मालवीय (9425003881)
    बैतूल।
    अयोध्या में बनने वाले भव्य श्रीराम मंदिर की दीवारों में बैतूल की 51 ईंटें भी शामिल रहेंगी। इसके लिए देश की 21 अंतरराष्ट्रीय सीमाओं से बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति के राष्ट्र रक्षा मिशन द्वारा लाई गई मिट्टी के साथ अखंडित भारत की हृदय स्थली बरसाली की मिट्टी मिलाकर बनाई गई 51 ईंटों का पूजन रविवार को किया जाएगा।
    बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति एवं वंदेमातरम समिति के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में ज्योतिषाचार्य पंडित कांत दीक्षित, सांसद डीडी उईके, पूर्व सांसद हेमंत खण्डेलवाल, समिति संरक्षक आदित्य बबला शुक्ला, आमला विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे, पूर्व नपाध्यक्ष एवं वंदेमातरम समिति के प्रमुख आनंद प्रजापति, पर्यावरणविद एवं भारत भारती आवासीय विद्यालय के सचिव मोहन नागर, विकास मिश्रा, विक्रम वैद्य एवं नगर के सभी मंदिर के पुजारी एवं मंदिर समिति के पदाधिकारियों की मौजूदगी में 51 ईंटों का पूजन किया जाएगा। यह कार्यक्रम पूर्व नपाध्यक्ष आनंद प्रजापति के विवेकानंद वार्ड स्थित निवास पर 31 अक्टूबर राष्ट्रीय एकता दिवस पर सुबह 9.30 बजे से आयोजित किया गया है। आयोजकों ने सभी धर्म एवं देशप्रेमी नागरिकों से आयोजन में शामिल होने का अनुरोध किया है। 

    देश की अखंडता और शौर्य का प्रतीक ईंटें
    राष्ट्र रक्षा मिशन की संचालक गौरी पदम ने बताया कि 21 सरहदों की मिट्टी एवं 27 पवित्र नदियों, कुंड एवं सागर और महासागरों के जल में अखंड भारत के केन्द्र बिंदु बरसाली की मिट्टी मिलाकर ईंटें तैयार की गई हैं। 31 अक्टूबर को यह ईंटें जिले की विभिन्न मंदिर समितियों एवं धर्म प्रेमियों को सौंपी जाएगी। इन ईंटों पर अखंड भारत एवं श्रीराम लिखा जाना है। इसके अलावा समितियोंं के नाम लिखकर श्री राम मंदिर निर्माण के लिए देश की अखंडता और शौर्य का प्रतीक ईंटों को एक प्रतिनिधि मंडल द्वारा अयोध्या पहुंचाया जाएगा। गौरतलब है कि इन ईंटों के लिए मिट्टी बैतूल की बेटियों ने देश की सरहदों पर रक्षाबंधन मनाने के दौरान लाई है। वंदे मातरम समिति द्वारा सहभागिता दर्ज कराते हुए इस मिट्टी को ईंटों का स्वरुप प्रदान किया है। 

    यह मंदिर समितियां रहेंगी मौजूद     
    कार्यक्रम में राममंदिर कोठीबाजार, कृष्ण मंदिर, मरही माता मंदिर, दुर्गा मंदिर, अखाड़ा मंदिर, काली मंदिर, बीजासनी मंदिर, पीताम्बरी पीठ, मरही माता मंदिर बसोड़ी मोहल्ला, नीलकंठेश्वर मंदिर, पंचमुखी हनुमान मंदिर, पंच मुखी गणेश मंदिर, सांई मंदिर, हनुमान मंदिर मराठी मोहल्ला, दादाजी कुटी, नागदेव मंदिर खंजनपुर, राम मंदिर गर्ग कालोनी, वैष्णोदेवी मंदिर, बालाजीपुरम, कृष्ण मंदिर गंज, शनि मंदिर गंज, गंज माता मंदिर, हनुमान मंदिर राम नगर, शारदा माता मंदिर, माता मंदिर बैतूलबाजार, भवानी माता मंदिर बैतूलबाजार, चमत्कारी हनुमान मंदिर कत्लढाना, हनुमान मंदिर सोनाघाटी, बजरंग मंदिर सोनाघाटी, संतोषी माता मंदिर लोहिया वार्ड, लीला बाबा मंदिर, शिव मंदिर लोहिया वार्ड, माता मंदिर माचना नगर, हनुमान मंदिर बैतूलबाजार, केरपानी हनुमान मंदिर, छावल रेणुका माता मंदिर, अंबा देवी मंदिर धारूल सहित जिले के अन्य मंदिर समितियों के पदाधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहेंगे।

  • Get real time updates directly on you device, subscribe now.