मांग रहे मनमानी फीस, नहीं दे रहे बच्चों को बस में प्रवेश

आठनेर के गुनखेड़ गांव के पास स्थित निजी स्कूल का मामला


बैतूल। जिले के आठनेर ब्लॉक के गुनखेड़ गांव के पास स्थित वैष्णवी पब्लिक स्कूल प्रशासन के द्वारा स्कूल में अध्ययन करने वाले बच्चों से ट्रांसपोर्ट के नाम पर मनमानी वसूली किए जाने और राशि नहीं देने पर बच्चों को बस में प्रवेश नहीं दिए जाने की शिकायत पालकों ने अधिकारियों से की है। इस मामले में अधिकारियों ने जांच की बात कही है।
पालकों के अनुसार प्रति छात्र लगभग 7000 रुपये ट्रांसपोर्ट फीस की मांग की जाती है। ग्राम हिडली गांव में जाने वाला स्कूल के मैजिक वाहन में क्षमता से अधिक सवारी बैठाकर परिवहन नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। हिडली गांव की पालक पूनम मनोज आजाद ने बताया कि स्कूल संचालक मनमानी करते हैं और बच्चों को फीस नहीं देने के नाम पर स्कूल बस में प्रवेश देने से मना कर रहे हैं। पालकों का कहना है कि उन्होंने ट्यूशन फीस पूरी जमा कर दी है फिर भी हमारे बच्चों को परीक्षा के दौरान शिक्षकों द्वारा लगातार फीस के लिए प्रताड़ित किया जा रहा है। स्कूल द्वारा मनमानी करके बच्चों को स्कूल वाहन में नहीं बिठाया जा रहा है। पालकों का यह भी कहना है कि हम जब स्कूल जाते हैं प्राचार्य से मिलने तो वे साफ मना कर देते हैं और कहते हैं कि मेरे पास समय नहीं है। प्राचार्य को लगातार काल किया जा रहा है, लेकिन वे फोन नहीं उठा रहे हैं। पालकों ने स्कूल पर सख्त कार्यवाही की मांग की है।

बयान के बाद करेंगे कार्यवाही…
इस संबंध में पालकों से बयान लेने के बाद संबंधित स्कूल प्रशासन के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
रामदास धाकड़, बीआरसी, आठनेर

@ आठनेर से निखिल सोनी

Get real time updates directly on you device, subscribe now.