बैंकों में करते थे रिपेयरिंग और मेंटेनेंस, फिर चुराने लगे एटीएम से बैटरी

कोतवाली पुलिस ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार, 16 बैटरी और कार जब्त

आरोपियों के पास से बरामद की गई चोरी की बैटरियां।

उत्तम मालवीय (9425003881)●
बैतूल। बैंकों में रिपेयरिंग और मेंटेनेंस का काम करते-करते दो युवक जल्द अमीर बनने की ख्वाहिश में चोर बन बैठे और एटीएम में लगी बैटरियां चोरी करने लगे। शहर में भी 4 एटीएम की बैटरी उन्होंने चुरा ली, लेकिन आखिर यहाँ वे कोतवाली पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पुलिस ने इनके पास से चोरी की 16 बैटरियां और कार बरामद की है।
कोतवाली टीआई रत्नाकर हिंगवे ने बताया कि थाना क्षेत्र में एक ही रात में यूनियन बैंक, सेंट्रल बैंक, पंजाब नेशनल बैंक और एसबीआई के एटीएम से बैटरी चोरी की घटना हुई थी। चोरी की इन घटनाओं को ट्रेस करने एक टीम बनाई गई थी। इस टीम ने कंट्रोल रूम के कैमरों की मदद से 24 घण्टे के भीतर ही आरोपी गौरव पिता गोपीलाल दुबे (35) ड्रीम सिटी इंदौर और दिलीप पिता कैलाश पटेल (30) ग्राम सिलोदा जिला इंदौर को पकड़ा गया। उनके कब्जे से चोरी की गईं 16 बैटरियां और घटना में प्रयुक्त टाटा टियागो कार बरामद की गई है। टीआई श्री हिंगवे ने बताया कि दोनों आरोपी जेगल कम्पनी में काम करते हैं और प्राइवेट बैंकों में रिपेयरिंग तथा मेंटेनेंस का कार्य करते हैं। इसके चलते इन्हें एटीएम लॉबी के बेक रूम की सम्पूर्ण जानकारी होती थी। वे बेक रूम में रखी बैटरियों के वायर को अपने पास रखे औजारों से काट लेते थे और बैटरियां चुरा लेते थे। यह बैटरियां वे अपनी कार से ले जाते थे। चोरी गई बैटरियों को स्क्रैप में बेचने की उनकी योजना था। पुलिस ने उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.