गजब: ग्राम सभा ने कलेक्टर को ही भेज दिया नोटिस…

जनजाति कानून के विपरीत भूमि आधिपत्य करने का मामला


●उत्तम मालवीय (9425003881)●
बैतूल। संभवत: प्रदेश में पहली बार किसी ग्राम सभा ने भूमि मामले में कलेक्टर सहित 29 लोगों को नोटिस भेजकर जवाब तलब किया है। नोटिस में संबंधित दस्तावेज, लिखित तर्क के साथ 23 अक्टूबर तक कार्यालय में प्रस्तुत करने की बात कही है। यह प्रस्तुत नहीं किये जाने पर एक पक्षीय कार्यवाही करने की चेतावनी भी दी गई है।
भीमपुर की पारंपरिक ग्राम सभा बेहड़ाढाना के उप मुकड़दम और सचिव मोतीराम ने कलेक्टर को प्रेषित नोटिस में उल्लेख किया है कि आवेदक चिक्कू पिता काडू कुमरे, संतोष पिता माडू कुमरे, रामप्रसाद पिता माडा कुमरे, मोतीराम पिता सुखराम कुमरे व परसराम पिता बिसराम कुमरे सभी आवेदक निवासी भीमपुर द्वारा पारंपरिक ग्राम सभा भीमपुर (बेहडाढाना) में भूमि संबंध वाद प्रस्तुत किया गया। प्रस्तुत वाद में उल्लेख किया है कि आवेदकों के दादाजी स्व. कली पिता हिम्मत जाति गोंड ने मौजा भीमपुर पटवारी हलका नंबर 39, बंदोबस्त नंबर 540 में स्थित अपने पैतृक हक की भूमि खसरा नंबर 192 में से 3.30 एकड़ भूमि जनजाति विधि विरूद्ध अनावेदक कलेक्टर (आदिम जाति कल्याण विभाग) को सौंपी थी। खसरा नंबर 192 में 3.30 एकड़ भूमि लगभग 28 ग्रामीणों के अधिपत्य/कब्जे में है। प्रस्तुत वाद पारंपरिक ग्राम सभा भीमपुर में विचारणीय है। इस मामले में पारंपरिक ग्राम सभा ने कलेक्टर सहित 29 ग्रामीणों से जवाब तलब किया है कि भीमपुर खसरा नंबर 192/1, 192/3 एवं 192/3 के अन्य भागों पर आप का कब्जा या अधिपत्य किस विधि अनुसार है। ग्राम सभा ने संबंधित दस्तावेज, लिखित तर्क के साथ 23 अक्टूबर तक कार्यालय में प्रस्तुत करने की बात कही है। इसके साथ ही संबंधित दस्तावेज एवं लिखित तर्क प्रस्तुत नहीं किए जाने पर एक पक्षीय कार्यवाही करने की चेतावनी दी है।